ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

22 जुलाई, 2009

सदी का सबसे बड़ा सूर्य ग्रहण जारी

भारत में सूर्य ग्रहण शुरू हो गया है. यह सुबह 5.28 बजे से लेकर 7.41 बजे तक जारी रहेगा. सूर्य ग्रहण देखने के लिए हरिद्वार, इलाहाबाद, पटना के तारेगना में लोगों की भीड़ जमा हो गई है. हरिद्वार और जलपाईगुड़ी में मौसम के खराब होने से सूर्यग्रहण नहीं देख पा रहे हैं. बनारस में आसमान पर बादल छाए हुए है.
भोपाल में भी दिखेगा ग्रहण
भोपाल में ग्रहण की पूर्णता तीन मिनट 9 सेकेंड की रहेगी. इन सभी इलाकों में सूर्यग्रहण सूर्योदय से पहले शुरू हो चुका होगा. इसके बाद ग्रहण उत्तर प्रदेश में दाखिल होते हुए इलाहाबाद के दक्षिण से वाराणसी शहर को लपेटते हुए बिहार में पहुंच जाएगा.
सूरत और भोपाल में हो रही है बारिश
सूरत में इस सूर्य ग्रहण के इस नजारे को देखने के लिए लोगों में भारी उत्साह है, लेकिन वहां रात से बारिश हो रही है. भोपाल का भी कुछ यही हाल है. मूसलाधार बारिश के कारण लोग फिलहाल इस ऐतिहासिक नजारे को देखने से महरूम हैं. पूर्ण सूर्य ग्रहण का नजारा बड़ोदरा और उज्जैन में 6.22 मिनट, गंगटोक में 6.27 मिनट भोपाल में 6.22 मिनट, और पटना व गया में 6.24 मिनट पर देखा जा सकेगा. दिल्ली में पूर्ण सूर्य ग्रहण का नजारा 6.26 मिनट पर दिखेगा.
तारेगना में इकट्ठा हैं हजारों लोग
बिहार में पटना के नजदीक तारेगना में सूर्यग्रहण साफ देखा जा सकेगा जिसे देखने के लिए देश विदेश से लोग और वैज्ञानिक आए हुए हैं. बिहार के गया, भागलपुर समेत कई इलाकों से होते हुए ग्रहण पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी पहुंच जाएगा. यहां के बाद चंद्रमा की छाया नेपाल और भूटान होते हुए असम और अरुणाचल प्रदेश में दाखिल होगी. उसके बाद ग्रहण चीन से होता हुआ प्रशांत महासागर तक पहुंच जाएगा. प्रशांत महासागर के बोनिन द्वीप पर ये ग्रहण पूरे 6 मिनट और 39 सेकेंड तक नज़र आएगा. पूरी दुनिया में 10.41 बजे तक सूर्यग्रहण देखा जा सकेगा.बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी कई मंत्रियों के साथ तारेगना में इस नजारे का आनंद लेने के लिए मौजूद हैं. उधर, चीन और जापान में भी इस अद्भुत खगोलीय घटना की शुरुआत हो चुकी है.

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.