ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

03 अगस्त, 2009

इलेश ने जीता राखी का स्वयंवर


तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए फिल्म अभिनेत्री राखी सावंत ने रविवार को कनाडा में रह रहे अप्रवासी भारतीय इलेश पारुजोनवाला के गले में वरमाला डाल दी।
फाइनल में पहुँचे मानस, क्षितिज और इलेश में से विजेता बने इलेश और राखी ने एक-दूसरे को अँगूठी पहनाकर सगाई की रस्म पूरी की। दोनों कुछ समय बाद शादी कर लेंगे।
राखी ने कहा कि शो में उनका दूल्हा बनने की ख्वाहिश लिए आए सभी सोलह युवक अच्छे थे, पर इलेश सबसे अच्छा है और उसमें सभी गुण हैं। उन्होंने कहा कि वे आज भी शादी कर सकती थीं पर उन्हें थोड़ा वक्त चाहिए।
पिछले 29 जून को इस शो का प्रसारण शुरू हुआ तो इसे जबरदस्त प्रतिसाद मिला और पहले सप्ताह में लगभग पौने तीन करोड़ दर्शकों ने यह शो देखा। चैनल के अनुसार पिछले 15 महीनों में किसी रियलिटी शो को ऐसी ओपनिंग नहीं मिली। चैनल सूत्रों के अनुसार राखी का दूल्हा बनने के लिए उन्हें बारह हजार से अधिक आवेदन मिले थे, जिसमें से 16 का चयन किया गया था।
उल्लेखनीय है कि शो एबीसी टेलीविजन नेटवर्क के लोकप्रिय रियलिटी शो 'द बैचलरेट' की तर्ज पर है। दोनों शो में इतना ही अंतर है कि द बैचलरेट में जहाँ नायिका प्रस्तावकों को शो में बने रहने के लिए उनके कोट में फूल लगाती थी, वहीं इस शो में राखी उन्हें मिठाई का डिब्बा देती थी। पर एनडीवी इमेजिन चैनल के सूत्रों के अनुसार उन्हें इस शो के बारे में पता नहीं है।
गौरतलब है कि 'राखी का स्वयंवर' नामक एक टीवी शो के माध्यम से राखी ने अपना दूल्हा चुनने का निर्णय लिया था। शो के शुरू होने के बाद से ही अटकलें लगाई जा रही थीं कि वे इस शो में अपना दूल्हा नहीं चुनेंगी। भारतीय टेलीविजन के इतिहास में यह पहला ऐसा शो है जिसमें स्वयंवर के माध्यम से एक अभिनेत्री ने अपना दूल्हा चुना हो।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.