ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

30 जुलाई, 2009

पाक के साथ वार्ता ही एकमात्र रास्ता : प्रणब

भारत और पाकिस्तान के बीच जारी संयुक्त बयान को लेकर उठे विवाद पर प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह का बचाव करते हुए वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी ने गुरुवार को कहा कि पड़ोसी देश के साथ युद्ध कोई समाधान नहीं है, बल्कि वार्ता ही एकमात्र रास्ता है।
उन्होंने स्पष्ट किया कि सरकार ने सीमा पार आतंकवाद से लड़ने के मुद्दे पर कोई समर्पण नहीं किया है।
मिस्र यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री की पाकिस्तानी प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी से मुलाकात के दौरान समग्र वार्ता को आतंकवाद के मुद्दे से उलग रखने के बयान पर उठे विवाद पर लोकसभा में एक बहस के दौरान मुखर्जी ने कहा, “न हम आतंकवाद के आगे झुकेंगे और न ही वार्ता बंद करेंगे”।मुखर्जी ने संसद को याद दिलाया कि पिछले 10 वर्षों से देश की सभी सरकारें आतंकवाद हमलों के बावजूद पाकिस्तान से वार्ता करती रही हैं और राजग ने भी यह किया। संप्रग ने भी यह किया।
पाकिस्तान के साथ वार्ता के महत्व को रेखांकित करते हुए मुखर्जी ने कहा, “हम पाकिस्तान को मिटा नहीं सकते। उसका अस्तित्व रहेगा। युद्ध कोई हल नहीं है”।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.