ताजा समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

 

30 जुलाई, 2009

पूर्व राजमाता गायत्री देवी पंचतत्व में विलीन

जयपुर की पूर्व राजमाता गायत्री देवी का गुरुवार को पूरे राजकीय सम्मान से अंतिम संस्कार कर दिया गया।
जयपुर में आमेर रोड स्थित महारानी की छत्रियों के परिसर में गायत्री देवी का पार्थिव शरीर अग्नि को समर्पित किया गया। जयपुर के पूर्व महाराजा भवानीसिंह ने उन्हें मुखाग्नि दी। जिला प्रशासन की ओर से जयपुर की पूर्व सांसद गायत्री देवी को 21 तोपों की सलामी दी गई।
गायत्री देवी के पार्थिव शरीर को अग्नि को समर्पित करने से पहले राजस्थान के राज्यपाल एसके सिंह, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, जयपुर के पूर्व महाराजा भवानी सिंह, उनके दामाद नरेन्द्र सिंह और जोधपुर के पूर्व महाराजा गजराजसिंह समेत करीब 20 से अधिक पूर्व राजघरानों के सदस्यों ने पुष्प चक्र अर्पित कर अंतिम श्रद्धांजलि दी।
थल सेना अध्यक्ष दीपक कपूर और सेना की कई रेजिमेंट की ओर से गायत्री देवी के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धाजंलि दी गई। इससे पूर्व गायत्री देवी की अंतिम यात्रा सिटी पैलेस की जनानी ड्योढ़ी से शुरू होकर मुख्य मार्गों से होती हुई महारानी की छत्रियों परिसर में पहुँची।

ध्यान दें

प्रकाशित समाचारों पर आप अपनी राय या टिपण्णी भी भेज सकते हैं , हर समाचार के नीचे टिपण्णी पर क्लिक कर के .

घूमता कैमरा

लोकप्रिय समाचार

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.